शनिवार, 30 अप्रैल 2011

पहेली - 2


आप सभी का स्वागत है एक नयी पहेली में,

नीचे दिखाये गये चित्र को ध्यान से देखिये और बताईये कि यह कौन सी जगह का चित्र हैं ?




जवाब देने का अन्तिम समय सोमवार शाम 07.00 बजे तक होगा।

कृपया पहेली मे पूछे गये चित्र के स्थान का सही सही नाम बतायें कि चित्र मे दिखाई गई जगह का नाम क्या है? उस राज्य का या शहर का नाम को अधूरा जवाब माना जायेगा। अपने जवाब के समर्थन में आप कोई लिंक देना चाहते है तो आप दे सकते है पर उसे आपका जवाब नहीं माना जाएगा जगह का नाम लिखने को ही जवाब माना जाएगा

जरुरी सूचना:-

टिप्पणी मॉडरेशन लागू है इसलिए समय सीमा से पूर्व रोचकता बनाये रखने के लिये ग़लत या सही दोनों ही तरह के जवाब प्रकाशित किए जा सकते हैं अत: आपका जवाब आपको तुरंत यहां नही दिखे तो कृपया परेशान ना हों.

पहेली के लिए नियम इस प्रकार होंगे _


1- यह पहेली केवल मनोरंजन और थोडे बहुत ज्ञानवर्धन के लिये है। पहेली में आपके सामने एक चित्र होगा जो भारत में कहीं का भी हो सकता है।


2- आपको बताना होगा उस चित्र में दिख रहे स्थान का क्या नाम है और वो कहाँ पर स्तिथ है अर्थात उस राज्य का क्या नाम है। जरूरत होने पर हिंट भी प्रकाशित किया जाएगा।


3- पहेली का प्रकाशन हर शनिवार प्रातः 10.00 बजे किया जाएगा। जवाब देने का अन्तिम समय सोमवार शाम 07.00 बजे तक होगा।


4- पहेली के परिणाम की घोषणा मंगलवार शाम 7.00 बजे की जाएगी।


5- समयसीमा के बाद प्राप्त होने वाले जवाबो को प्रकाशित तो किया जाएगा पर परिणामो मे शामिल नहीं किया जाएगा।


6- आपका जवाब आपको यहां न दिखे तो कृपया परेशान ना हों। है, समयसीमा से पूर्व सही और गलत दोनों तरह के जवाब प्रकाशित किए जा सकते है


7- टिप्पणी मॉडरेशन लागू है. समय सीमा से पूर्व रोचकता बनाये रखने के लिये ग़लत या सही दोनों ही तरह के जवाब प्रकाशित किए जा सकते हैं.


8- यदि आप दिखाये गए चित्र के विषय मे कोई जानकारी रखते है तो अन्य पाठको से साझा करे


9- किसी भी तरह की विवादास्पद परिस्थितियों मे आयोजक का फ़ैसला ही अंतिम फ़ैसला होगा


10-
यदि आप किसी तरह का कोई सुझाव देना चाहते है तो आपका स्वागत है

14 टिप्पणियाँ:

Sachin ने कहा…

रंथंभोर का किला , राजस्थान

सुज्ञ ने कहा…

सूर्य मन्दिर, कोणार्क,भुवनेश्वर (ओरिसा)

ओशो रजनीश ने कहा…

खजुराहो के मंदिर,

निरंजन मिश्र (अनाम) ने कहा…

shayad rajasthan me hi kahin ka lagta hai

दर्शन लाल बवेजा ने कहा…

कोणार्क सूर्य मंदिर उडीसा

आचार्य सुशील अवस्थी "प्रभाकर" ने कहा…

पता नहीं , जवाब आने पर ही पता चलेगा

M.R.Ghori ने कहा…

nice

विजय कर्ण ने कहा…

सूर्य मंदिर, कोणार्क, उड़ीसा

बेनामी ने कहा…

लगता है अभी बनती भाई को आपकी पहेली नहीं पता चला है, नहीं तो अभी तक तो जवाब भी छाप जाता

रामपुरी सम्राट श्री राम लाल ने कहा…

सवाल - यह चित्र कहाँ का है ?
जवाब - नहीं बताऊँगा, अपने आप ही ढूंढ लो

M ने कहा…

पक्का तो नहीं है पर यही लगता है
सूर्य मंदिर , कोणार्क, भुवनेसवार, उड़ीसा

बेनामी ने कहा…

हा हा हा -- बनती भाई लौट आए है अब तुम्हें पता चलेगा

बिग बॉस ने कहा…

अभी खोजते है , कहाँ का है ये चित्र

pryas ने कहा…

यह चित्र कोणार्क स्थित सूर्य मंदिर का है. इस मंदिर का निर्माण राजा नरसिंहदेव ने 13 वीं सदी में करवाया था. सूर्य देव को समर्पित इस मंदिर के चारों ओर पहिये लगे हुए हैं. इस मंदिर को देखकर रवींद्रनाथ टैगोर ने एक बार कहा था, " यहाँ के पत्थरों की भाषा आदमी की भाषा से बढ़कर है.

एक टिप्पणी भेजें